Sirisha Bandla becomes second woman of Indian origin to go into space

 Sirisha Bandla was born in Tenali, a town in the Guntur district of Andhra Pradesh. He was raised in Houston, USA.

Sirisha Bandla becomes second woman of Indian origin to go into space


Recently, Indian-origin Sirisha Bandla became the second woman of Indian origin to fly in space on July 11, 2021. She flew to the edge of space aboard billionaire Sir Richard Branson's Virgin Galactic flight 'VSS Unity' (she was one of the six crew members).

 

Sirisha Bandla is the second woman of Indian origin in space after Kalpana Chawla, who died in 2003 when the Columbia Space Shuttle disintegrated during its re-entry to Earth.


Industrialist Anand Mahindra also took to a tweet saying, "Indian women are not only breaking glass ceilings (doing their best) - they are literally crossing all boundaries of this planet (earth) and into space." are taking flight."


Sirisha Bandla was born in Tenali, a town in the Guntur district of Andhra Pradesh. He was raised in Houston, USA.


Billionaire Richard Branson's "Unity 22" mission, the 'VSS Unity' - a suborbital rocket-powered space plane, reached an altitude of 85 km (282,000 ft; 53 mi) in this Virgin Galactic flight. The 70-year-old founder of Virgin Galactic travelled to space as a mission specialist in the six-member team of the "Unity 22" mission.


British billionaire and founder of Virgin Galactic Company, Sir Richard Branson, first announced his intention to build a spaceplane in 2004. With the belief that they can start a commercial service to space by the year 2007.


Click Here Topic Wise Study 


हाल ही मे, भारतीय मूल की सिरीशा बांदला 11 जुलाई, 2021 को अंतरिक्ष में उड़ान भरने वाली भारतीय मूल की दूसरी महिला बन गई| उन्होंने अरबपति सर रिचर्ड ब्रैनसन की वर्जिन गेलेक्टिक उड़ान 'VSS यूनिटी'(छह चालक दल के सदस्यों में से एक थीं) में सवार होकर अंतरिक्ष के किनारे तक उड़ान भरी|

 

कल्पना चावला, जिनकी मृत्यु 2003 में कोलंबिया अंतरिक्ष शटल के पृथ्वी पर पुन: प्रवेश के दौरान विघटित होने पर हो गई थी, के बाद सिरिशा बांदला अंतरिक्ष में जाने वाली भारतीय मूल की दूसरी महिला हैं|

 

उद्योगपति आनंद महिंद्रा ने भी यह कहते हुए एक ट्वीट किया कि, "भारतीय महिलाएं न केवल शीशे की छत तोड़ रही हैं (अपना सर्वोत्तम प्रदर्शन कर रही हैं) - वे सचमुच इस ग्रह (पृथ्वी) की सभी सीमाओं को लांघ रही हैं और अंतरिक्ष में उड़ान भर रही हैं."


सिरीशा बांदला का जन्म आंध्र प्रदेश के गुंटूर जिले के एक शहर, तेनाली में हुआ| उनका पालन-पोषण अमेरिका के ह्यूस्टन में हुआ था|


इस वर्जिन गेलेक्टिक उड़ान में अरबपति रिचर्ड ब्रैनसन का "यूनिटी 22" मिशन, ‘VSS यूनिटी’ - एक सबऑर्बिटल रॉकेट-संचालित अंतरिक्ष विमान 85 किमी (282,000 फीट; 53 मील) की ऊंचाई तक पहुंच गया था| वर्जिन गेलेक्टिक के 70 वर्षीय संस्थापक ने "यूनिटी 22" मिशन की छह सदस्यीय टीम में एक मिशन विशेषज्ञ के तौर पर अंतरिक्ष की यात्रा की थी|


ब्रिटेन के अरबपति और वर्जिन गेलेक्टिक कंपनी के संस्थापक, सर रिचर्ड ब्रैनसन ने पहली बार वर्ष, 2004 में एक अंतरिक्ष विमान बनाने के अपने इरादे की घोषणा की| इस विश्वास के साथ कि, वे वर्ष, 2007 तक अंतरिक्ष के लिए एक वाणिज्यिक सेवा शुरू कर सकते हैं|


Find More Science And Technology News

Post a Comment

Thanks For Visiting...Keep learning...!

Previous Post Next Post