Adsense

National Energy Conservation Day 2021: Know why Energy Conservation Day is celebrated

 National Energy Conservation Day 2021: National Energy Conservation Day is celebrated in the country on 14 December every year by the Bureau of Energy Efficiency (BEE) under the Ministry of Power.

National Energy Conservation Day 2021: Know why Energy Conservation Day is celebrated


National Energy Conservation Day 2021: National Energy Conservation Day is celebrated in the country on 14 December every year by the Bureau of Energy Efficiency (BEE) under the Ministry of Power. The main objective of celebrating this day is to raise awareness among the people about the importance of energy conservation and energy efficiency as well as holistic efforts required for overall development for climate change mitigation.


On the occasion of National Energy Conservation Day-2021, Convergence Energy Services Limited (CISL), a wholly-owned subsidiary of Energy Efficiency Services Limited (EESL), will expand its flagship program Gram Ujala. Under this initiative, LED bulbs will be distributed at the rate of Rs 10 in 2,579 villages in five states – Bihar, Uttar Pradesh, Telangana, Andhra Pradesh and Karnataka.


History

The Ministry of Power, Government of India launched a scheme in 1991, which provides national recognition by awarding industries and establishments that have made special efforts to reduce energy consumption while maintaining their production. The award was first given on December 14, 1991, which was declared as 'National Energy Conservation Day.


What is the Bureau of Energy Efficiency?

The Bureau of Energy Efficiency is a statutory body, which functions under the Government of India and helps in the development of policies and strategies to reduce energy use. The Energy Conservation Act in India was enacted by the Bureau of Energy Efficiency (BEE) in the year 2001.


Click Here Topic Wise Study 


National Energy Conservation Day 2021: ऊर्जा मंत्रालय के अधीन ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी (BEE) द्वारा प्रति वर्ष 14 दिसंबर को देश में राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस मनाया जाता है| इस दिवस को मनाने का मुख्य उदेश्य लोगों के बीच ऊर्जा संरक्षण और ऊर्जा दक्षता के महत्व के साथ-साथ जलवायु परिवर्तन शमन के लिए समग्र विकास के लिए जरुरी समग्र प्रयासों के लिए जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है| 


राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस-2021 के अवसर पर एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी कन्वर्जेंस एनर्जी सर्विसेज लिमिटेड (CISL) अपने प्रमुख कार्यक्रम ग्राम उजाला का विस्तार करेगी| इस पहल के तहत पांच राज्यों- बिहार, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक के 2,579 गांवों में एलईडी बल्बों को 10 रुपये की दर पर वितरित किया जाएगा| 


इतिहास 

ऊर्जा मंत्रालय, भारत सरकार ने 1991 में एक योजना की शुरूआत की थी, जो ऐसे उद्योगों और प्रतिष्ठानों को पुरस्कार देकर राष्ट्रीय मान्‍यता प्रदान करती है, जिन्होंने अपने उत्पादन को बनाए रखते हुए ऊर्जा की खपत को कम करने के लिए विशेष प्रयास किए हैं| यह पुरस्कार पहली बार 14 दिसंबर, 1991 को दिया गया था, जिसे 'राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस' के रूप में घोषित किया गया था| 


ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी क्या है - 

ऊर्जा दक्षता ब्यूरो एक संवैधानिक निकाय है, जो भारत सरकार के अंतर्गत कार्य करता है और ऊर्जा उपयोग को कम करने के लिए नीतियों और रणनीतियों के विकास में मदद करता है| भारत में ऊर्जा संरक्षण अधिनियम को वर्ष 2001 में ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी (BEE) द्वारा बनाया गया था|



Find MOre Important Days News

Post a Comment

Thanks For Visiting...Keep learning...!

Previous Post Next Post

ad