Sudhanshu Mittal book titled RSS launched in Chinese language

This book was brought out in 2019 by Har-Anand Publications. The Chinese translation of this book has been done by Jack Bo.

Sudhanshu Mittal book titled RSS launched in Chinese language

BJP leader Sudhanshu Mittal's book RSS: Building India Through Service on Rashtriya Swayamsevak Sangh (RSS) has been translated into Chinese. The book "RSS: Building India Through Service talks about the history, ideology and policies of RSS and their subsequent impact on the nation.


This book was brought out in 2019 by Har-Anand Publications. The Chinese translation of this book has been done by Jack Bo.


According to Sudhanshu Mittal, the book was written to "distinguish between fact and fiction which is at the centre of the debate on the RSS" and attempted to clarify the contribution and status of the RSS in Indian society. 


In his words, this book attempts to bust the myths of RSS since its inception, its history, the origin of service work, structural organization, RSS, which participated in India's independence movement. Not taken, the Ram Janmabhoomi issue, and the dynamic nature of the organization through generational change.


Click Here Topic Wise Study 


(राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पर भाजपा नेता सुधांशु मित्तल की पुस्तक आरएसएस: बिल्डिंग इंडिया थ्रू सेवा का चीनी भाषा में अनुवाद किया गया है| "आरएसएस: बिल्डिंग इंडिया थ्रू सेवा पुस्तक आरएसएस के इतिहास, विचारधारा और नीतियों और राष्ट्र पर उनके बाद के प्रभाव की बात करती है|)


(इस पुस्तक को 2019 में हर-आनंद प्रकाशन द्वारा लाया गया था| यह पुस्तक का चीनी अनुवाद जैक बो (Jack Bo) द्वारा किया गया है|)

 

(सुधांशु मित्तल के अनुसार इस पुस्तक को "तथ्य और कल्पना के बीच अंतर करने के लिए लिखा है जो आरएसएस (RSS) पर बहस के केंद्र में है" और भारतीय समाज में आरएसएस (RSS) के योगदान और स्थिति को स्पष्ट करने का प्रयास किया गया है|) 


(उनके शब्दों में इस पुस्तक मे आरएसएस (RSS) की स्थापना के बाद से उसके काम, उसके इतिहास, सेवा कार्य के मूल, संरचनात्मक संगठन, आरएसएस (RSS) के मिथकों का भंडाफोड़ करने का प्रयास करती है, जिसने भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में भाग नहीं लिया, राम जन्मभूमि मुद्दा, और पीढ़ीगत परिवर्तन के माध्यम से संगठन की गतिशील प्रकृति की|)


Find More Books And Authors News

Post a Comment

Thanks For Visiting...Keep learning...!

Previous Post Next Post