CJI SA Bobde launches SA SUPACE, the first AI powered research portal of Supreme Court

 The next Chief Justice of India NV Ramanna said that the launch of SUPACE is a historic decision in the history of the Supreme Court of India and the history of the Indian judiciary.

CJI SA Bobde launches SA SUPACE,
On April 06, 2021, Chief Justice of India SA Bobde launched SUPACE, an AI-powered research portal for the Indian judiciary system.

Recently, the Supreme Court of India launched its first artificial intelligence-driven research portal (Supreme Court Portal for Assistant in Court's Efficiency) (SUPACE) on April 06, 2021.


SUPACE means - Supreme Court Portal for Assistant in Court's Efficiency. SUPACE will assist judges in the collection of data, fact-finding, processing of words, and in turn, can save time and improve work efficiency. In the initial phase, judges of Delhi and Bombay High Courts dealing only with criminal cases will use this tool on an experimental basis.


Chief Justice of India SA Bobde described it as a 'hybrid system' and 'a perfect blend of human intelligence and machine learning, paired with human intelligence. Chief Justice Bobde emphasized the fact that artificial intelligence (AI) will not play any role in decision-making in the court.


The next Chief Justice of India NV Ramanna said that the launch of SUPACE is a historic decision in the history of the Supreme Court of India and the history of the Indian judiciary.


CJI SA Bobde is the first Chairman of the Artificial Intelligence Committee, Supreme Court of India. They mentioned the ambitious plans to avail AI in the judicial system during his swearing-in as Chief Justice of India in 2019.


Click Here Topic Wise Study 


(हाल ही में, भारत के सर्वोच्च न्यायालय ने 06 अप्रैल, 2021 को अपना पहला आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस-संचालित अनुसंधान पोर्टल (सुप्रीम कोर्ट पोर्टल फॉर असिस्टेंट इन कोर्ट’स एफिशिएंसी) (SUPACE) लॉन्च किया है|)  


(SUPACE का अर्थ - सुप्रीम कोर्ट पोर्टल फॉर असिस्टेंट इन कोर्ट’स एफिशिएंसी है| SUPACE न्यायाधीशों को डाटा के संग्रह, तथ्यों की खोज, शब्दों को संसाधित करने में सहायता करेगा और जिसके बदले में समय की बचत और कार्य दक्षता में सुधार हो सकेगा| शुरुआती चरण में, केवल आपराधिक मामलों से निपटने वाले दिल्ली और बॉम्बे उच्च न्यायालयों के न्यायाधीश इस टूल का उपयोग प्रयोगात्मक आधार पर करेंगे|) 


(भारत के मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे ने इसे 'हाइब्रिड सिस्टम' और 'मानव बुद्धिमत्ता और मशीन लर्निंग के एक सही मिश्रण' के तौर पर वर्णित किया, जो मानव बुद्धि के साथ जोड़ा गया है|  मुख्य न्यायाधीश बोबडे ने इस तथ्य पर जोर दिया कि, कृत्रिम बुद्धिमत्ता (AI) अदालत में निर्णय लेने में कोई भूमिका नहीं निभाएगा है|)  


(भारत के अगले मुख्य न्यायाधीश एनवी रमन्ना ने कहा कि, भारत के सुप्रीम कोर्ट के इतिहास और भारतीय न्यायपालिका के इतिहास में SUPACE का शुभारंभ एक ऐतिहासिक फैसला है|) 


(CJI SA Bobde, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कमेटी, सुप्रीम कोर्ट ऑफ़ इंडिया के पहले अध्यक्ष है| जिन्होंने वर्ष, 2019 में भारत के मुख्य न्यायाधीश के तौर पर शपथ के दौरान न्यायिक प्रणाली में AI का लाभ उठाने की महत्वाकांक्षी योजनाओं का उल्लेख किया|)


Find More National News

Post a Comment

Thanks For Visiting...Keep learning...!

Previous Post Next Post