Indian Navy joins landing craft utility ship

The eighth and last of the landing craft utility (LCU) mark-IV class ship was commissioned at an event in Port Blair, a spokesperson of the Indian Navy said. 


Indian Navy joins landing craft utility ship


Recently, a landing craft utility (LCU) ship has been inducted into the Indian Navy on 18 March 2021. Which will be used in various activities such as transport of war tanks and other heavy weapons.



According to the Indian Navy, the eighth and final class four ships of the Landing Craft Utility attended an event held at Port Blair. The ship has been designed and built indigenously by Garden Reach Shipbuilders and Engineers Limited (GRSE), Kolkata.



The event was attended by Commander-in-Chief, Andaman and Nicobar Command Lt. Gen. Manoj Pandey, Chief Guest and Retired Naval Officer Rear Admiral Vipin Kumar Saxena, Director, Garden Reach Shipbuilders and Engineers Limited (GRSE)



The LCU 58 is an amphibious ship that can carry 160 soldiers in addition to its crew. With a carrying capacity of 900 tonnes, the ship is also capable of carrying various types of combat vehicles such as main battle tanks (MBTs), BMSPs, armored vehicles, and trucks, etc.


Click Here Topic Wise Study 


(हाल ही में, भारतीय नौसेना में 18 मार्च 2021 को एक लैंडिंग क्राफ्ट यूटिलिटी (एलसीयू) शिप शामिल हुआ है | जिसका उपयोग युद्धक टैंकों और अन्य भारी हथियारों के परिवहन जैसी विभिन्न गतिविधियों में होगा |) 


(भारतीय नौसेना के अनुसार, लैंडिंग क्राफ्ट यूटिलिटी के आठवें और अंतिम श्रेणी चार के जहाज पोर्ट ब्लेयर में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुआ | जहाज को गार्डन रीच शिप बिल्डर्स एंड इंजीनियर्स लिमिटेड (जीआरएसई), कोलकाता द्वारा स्वदेशी रूप से डिजाइन और निर्मित किया गया है |)


(इस कार्यक्रम में कमांडर-इन-चीफ, अंडमान एंड निकोबार कमांड लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे मुख्य अतिथि तथा गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स लिमिटेड (जीआरएसई) के निदेशक सेवानिवृत नौसेना अधिकारी रीयर एडमिरल विपिन कुमार सक्सेना मौजूद रहे |)


(एलसीयू 58 एक उभयचर जहाज है जो अपने चालक दल के अलावा 160 सैनिकों को ले जा सकता है | 900 टन की भारवहन क्षमता के साथ यह जहाज विभिन्न प्रकार के लड़ाकू वाहनों जैसे मुख्य युद्धक टैंक (एमबीटी), बीएमएसपी, बख्तरबंद वाहन और ट्रक आदि ले जाने में भी सक्षम है |) 


Find More Defences News

Post a Comment

Thanks For Visiting...Keep learning...!

Previous Post Next Post