War practice: India-US joint Military Exercise to Begin in Rajasthan from 8 February

 War practice: India-US joint Military Exercise to Begin in Rajasthan from 8 February


War practice: India-US joint Military Exercise to Begin in Rajasthan from 8 February


The 16th edition of the Indo-US joint military exercise 'War Exercise' will be held in Rajasthan from 08 February to 21 February 2021. A five-day joint exercise was held in Rajasthan in January 2021 by the Air Forces of France and India.


Defence Spokesperson, Lieutenant Colonel Amitabh Sharma stated that as part of the military-to-military exchange programs, the United States Army contingent will arrive in India for a joint military exercise with Indian Army troops on 05 February. This bilateral training exercise will be held at the Mahajan Field Firing Range at the overseas training node.


Amitabh Sharma also stated that, despite the coronavirus epidemic, this practice is being practised between the two countries, which indicates the strengthening of bilateral relations and also gives a geo-strategic message to the environment.


The joint military exercise to be conducted along the Indo-Pakistan border aims to increase interoperability and cooperation between the two armies and will also focus on counter-terrorism operations under the UN mandate.


  • In the 'war exercise', the Indian Army will be represented by the 11th Battalion of the Jammu and Kashmir Rifles, which are part of the South Western Command.
  •  The United States Army delegation will be represented by the 3rd Infantry Regiment of the Second Battalion and the 1-2 Striker Brigade Combat Team, along with the respective Brigade Headquarters.


Click Here Topic Wise Study 


(भारत-अमेरिका संयुक्त सैन्य अभ्यास, ‘युद्ध अभ्यास’ का 16 वां एडिशन 08 फरवरी से 21 फरवरी, 2021 के बीच राजस्थान में आयोजित होगा | फ्रांस और भारत की वायु सेनाओं द्वारा जनवरी, 2021 में राजस्थान में 05 दिनों के संयुक्त अभ्यास हुआ था |)


(रक्षा प्रवक्ता, लेफ्टिनेंट कर्नल अमिताभ शर्मा ने बाताया कि सैन्य से सैन्य विनिमय कार्यक्रमों के एक हिस्से के तौर पर, संयुक्त राज्य अमेरिका की सेना की टुकड़ी 05 फरवरी को भारतीय सेना के सैनिकों के साथ संयुक्त सैन्य अभ्यास के लिए भारत पहुचेंगी | यह द्विपक्षीय प्रशिक्षण अभ्यास विदेशी प्रशिक्षण नोड में महाजन फील्ड फायरिंग रेंज में आयोजित होगा |)


(अमिताभ शर्मा ने यह भी बताया कि, कोरोना वायरस महामारी के बावजूद, दोनों देशों के बीच यह अभ्यास किया जा रहा है, जो द्विपक्षीय संबंधों की मजबूती का संकेत देता है और पर्यावरण के लिए एक भू-रणनीतिक संदेश भी देता है |)


(भारत-पाकिस्तान सीमा के पास आयोजित होने वाले इस संयुक्त सैन्य अभ्यास का उद्देश्य दोनों सेनाओं के बीच अंतर-संचालन क्षमता और सहयोग को बढ़ाना है साथ ही यह अभ्यास संयुक्त राष्ट्र के जनादेश के तहत आतंकवाद-रोधी अभियानों पर भी ध्यान केंद्रित करेगा |)


  •  'युद्ध अभ्यास' में भारतीय सेना का प्रतिनिधित्व जम्मू और कश्मीर राइफल्स की 11 वीं बटालियन द्वारा किया जाएगा, जो दक्षिण पश्चिमी कमान का हिस्सा हैं |
  •  संयुक्त राज्य अमेरिका की सेना के प्रतिनिधिमंडल का प्रतिनिधित्व संबंधित ब्रिगेड मुख्यालय के साथ, सेकेंड बटालियन के जवानों और 1-2 स्ट्राइकर ब्रिगेड कॉम्बैट टीम की तीसरी इन्फैंट्री रेजिमेंट द्वारा किया जाएगा |

Post a Comment

Thanks For Visiting...Keep learning...!

Previous Post Next Post