Vice President M. Venkaiah Naidu Inaugurates 'Adi Mahotsav'

 Vice President M. Venkaiah Naidu Inaugurates 'Adi Mahotsav'

Vice President M. Venkaiah Naidu Inaugurates 'Adi Mahotsav'

Recently, Vice President M. Venkaiah Naidu has inaugurated the National Tribal Festival "Adi Mahotsav" at Delhi Haat, INA, Delhi. "Adi Mahotsav 2021" will be held from February 1 to 15, 2021.


The theme of the Adi Festival 2021 is: "Celebration of the Spirit of Tribal Culture, Cuisine and Commerce". Adi Mahotsav 2021 aims to showcase the rich and diverse crafts, the culture of tribal communities across the country on one platform.


The festival will showcase and sell tribal arts and crafts, medicine and healing, food and folk performances, which will be attended by around 1000 tribal artisans, artists and chefs from more than 20 states of the country and a glimpse of their diverse traditional culture. do.


Vice President Shri M. Venkaiah Naidu advocated the implementation of a development model that would also preserve the special cultural identity of tribal communities. "They said that their culture is their identity. Even while connecting tribals to the mainstream of the country, their cultural identity should be protected."


The Adi Mahotsav, a celebration of tribal culture, crafts, food and trade - TRIFED is an annual initiative organized by the Ministry of Tribal Affairs from 2017.


Click Here Topic Wise Study


(हाल ही मे, उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने दिल्ली के आईएनए के दिल्ली हाट में राष्ट्रीय जनजातीय महोत्सव "आदि महोत्सव" का उद्घाटन किया है । "आदि महोत्सव 2021" का आयोजन 1 से 15 फरवरी, 2021 तक होगा।)


(आदि महोत्सव 2021 की थीम है: “Celebration of the Spirit of Tribal Culture, Cuisine and Commerce”। आदि महोत्सव 2021 का उद्देश्य देश भर के आदिवासी समुदायों की समृद्ध और विविध शिल्प, संस्कृति का एक मंच पर प्रदर्शन करना है।)


(इस महोत्सव में आदिवासी कला और शिल्प, चिकित्सा और उपचार, भोजन और लोक प्रदर्शनों का प्रदर्शन और बिक्री शामिल होगी, जिसमें देश के 20 से अधिक राज्यों के लगभग 1000 आदिवासी कारीगर, कलाकार और शेफ भाग लेंगे और अपनी विविध पारंपरिक संस्कृति की एक झलक पेश करेंगे।)


(उपराष्ट्रपति श्री एम वेंकैया नायडू ने ऐसे विकास मॉडल को लागू करने की वकालत कि, जो जनजातीय समुदायों की विशेष सांस्कृतिक पहचान को भी सुरक्षित रखे। "उन्होंने कहा कि उनकी संस्कृति ही उनकी पहचान है। आदिवासियों को देश कि मुख्य धारा में जोड़ते हुए भी उनकी सांस्कृतिक पहचान को सुरक्षित रखा जाना चाहिए।)


(आदि महोत्सव, आदिवासी संस्कृति की भावना, शिल्प, भोजन और व्यापार का उत्सव- ट्राइफेड, जनजातीय मामलों के मंत्रालय द्वारा 2017 से आयोजित एक वार्षिक पहल है।)


Find More National News 

Post a Comment

Thanks For Visiting...Keep learning...!

Previous Post Next Post