Punjab CM Launches 'Har Ghar Pani, Har Ghar Safai' Mission

 Funds are being provided from the World Bank, Water Life Mission of the Government of India, NABARD and the state budget for every house water, every house cleaning scheme.

Punjab CM Launches 'Har Ghar Pani, Har Ghar Safai' Mission

Recently, Punjab Chief Minister Captain Amarinder Singh has virtually launched the 'Har Ghar Pani, Har Ghar Safai' mission to provide 100 per cent potable piped water supply from the pipeline to all rural households in the state by March 2022. With this, Punjab has become the first state in the country to implement this mission.


With this scheme more than 1.6 lakh people from 155 villages of arsenic affected population in Amritsar district will get the benefit. The scheme is being funded by World Bank, Jal Jeevan Mission, Government of India, NABARD and State Budget.


Chief Minister Captain Amarinder Singh inaugurated the Mega Nahari Water Supply Scheme for this mission on 01 February 2021. Under this, along with covering 85 villages in Moga district, 144 new water supply schemes for 172 villages include arsenic (harmful chemical elements) and 121 iron-removal plants. In which 35 plants are inaugurated and 86 plants are dedicated to the people.


Describing clean drinking water as the priority of his government, the Chief Minister said that on an average Rs 920 crore is being spent annually by the current Congress government to start various water supply and sanitation schemes while only 219 crores were spent in the Akali-BJP government used to go.


After the state government came to power in March 2017, 1450 crores have already been spent for rural sanitation and drinking water. 23.71 rural households (67.65 per cent of the population) are being supplied potable water through pipes.


To provide immediate relief to 54 villages in the border area where there is a significant amount of arsenic in groundwater, the Captain has started a project costing Rs 4.85 crore which will be completed by April 2021.


On the same occasion, the Chief Minister also inaugurated the multi-village Nahari Water Supply Project for 85 villages in the uranium-affected blocks of Bagha Purana and Nihal Singh Wala in Moga district, which has been built at a cost of Rs 218.56 crore.


The 'Har Ghar Pani, Har Ghar Safai' mission will provide 24-hour clean water to 68839 homes with a population of 3.64 lakh. Apart from this, the Chief Minister has formally launched 10 mega canal water supply schemes costing Rs 1020 crore. This includes 1018 villages in the affected areas of Patiala, Fatehgarh Sahib, Gurdaspur, Amritsar and Tarn Taran.


Click Here Topic Wise Study 


(हाल ही मे, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मार्च 2022 तक राज्य के सभी ग्रामीण घरों में पाइपलाइन से 100 प्रतिशत पीने योग्य पाइप्ड जलापूर्ति मुहैया कराने के लिए ‘हर घर पानी, हर घर सफाई’ मिशन की वर्चुअल शुरुआत की है।  इसके साथ ही पंजाब यह मिशन लागू करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है।) 


(इस स्कीम के साथ अमृतसर जिले में आर्सेनिक प्रभावित आबादी के 155 गांवों के 1.6 लाख से अधिक लोगों को लाभ मिलेगा। इस योजना को विश्व बैंक, जल जीवन मिशन, भारत सरकार, नाबार्ड और राज्य बजट द्वारा वित्त पोषित किया जा रहा है|)


(मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने 01 फरवरी 2021 को इस मिशन के लिए मेगा नहरी जल सप्लाई स्कीम का उद्घाटन किया। इसके तहत मोगा जिले के 85 गांवों को कवर करने के साथ-साथ, 172 गांवों के लिए 144 नई जल सप्लाई योजनाओं में आर्सेनिक (हानिकारक रासायनिक तत्व) और आयरन हटाने वाले 121 प्लांट शामिल है। जिसमे 35 प्लांटों का उद्घाटन और 86 प्लांट लोगों को समर्पित किए है|)

 

(मुख्यमंत्री ने साफ पेयजल को अपनी सरकार की प्राथमिकता बताते हुए कहा कि मौजूदा कांग्रेस सरकार की तरफ से विभिन्न जल सप्लाई और सैनिटेशन स्कीम शुरू करने के लिए सालाना औसतन 920 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं जबकि अकाली -भाजपा सरकार में केवल 219 करोड़ खर्च किया जाता था।) 


(राज्य सरकार की तरफ से मार्च, 2017 में सत्ता में आने के बाद ग्रामीण सफाई और पीने वाले पानी के लिए पहले ही 1450 करोड़ खर्च किए जा चुके हैं। 23.71 ग्रामीण घरों (67.65 प्रतिशत जनसंख्या) को पाइपों से पीने योग्य पानी सप्लाई किया जा रहा है।) 


(सरहदी इलाके के 54 गांव, जहां भूजल में अधिक मात्रा में आर्सेनिक है, उनको नहरी सप्लाई पहुंचने तक तत्काल राहत देते हुए कैप्टन ने 4.85 करोड़ रुपये की लागत वाले एक प्रोजेक्ट की शुरुआत की है जो अप्रैल, 2021 तक पूरा होगा।) 


(इसी मौके पर मुख्यमंत्री ने मोगा जिले के बाघा पुराना और निहाल सिंह वाला के यूरेनियम प्रभावित ब्लाकों के 85 गांवों के लिए बहु-गांव नहरी जल सप्लाई प्रोजेक्ट का भी उद्घाटन किया, जो 218.56 करोड़ रुपये की लागत के साथ बनाया गया है।) 


(‘हर घर पानी, हर घर सफाई’ मिशन 3.64 लाख की जनसंख्या वाले 68839 घरों को 24 घंटे साफ पानी मुहैया कराएगा। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने 1020 करोड़ रुपये की लागत वाली 10 मेगा नहरी जल सप्लाई स्कीमों की औपचारिक तौर पर शुरुआत की है। इससे पटियाला, फतेहगढ़ साहिब, गुरदासपुर, अमृतसर और तरनतारन के प्रभावित इलाकों में 1018 गांव शामिल हैं।) 


Find More Schemes And Committees News 


Post a Comment

Thanks For Visiting...Keep learning...!

Previous Post Next Post