Shristi Goswami Will Be The CM of Uttarakhand for One Day

 Shristi Goswami Will Be The CM of Uttarakhand for One Day

Shristi Goswami Will Be The CM of Uttarakhand for One Day

Shristi Goswami, 19 years old, will become the Chief Minister of Uttarakhand for one day on the occasion of National Girl Child Day on January 24, 2021.


A meeting will be held in room number 120 of the assembly on this day. Its approval and instructions have been given by Chief Minister Trivendra Singh Rawat.


During her one day tenure, Srishti will review the development works of the state. For this, the designated department officials will give their presentation in the assembly for five minutes each. The assembly will be held from 12 noon to 3 pm.


Goswami, who is a student of third year BSc, said, "I still cannot believe if this is true. I am so overwhelmed. But at the same time, I will do my best to prove that youth can excel in administration while working for people's welfare."


Some of the schemes she will review include Atal Ayushman Scheme, Smart City project, Homestay Scheme by the tourism department, and other development projects.


Usha Negi, the chairperson of the Uttarakhand Child Rights Protection Commission said, "The arrangements regarding this have already been made in the state assembly building in Gairsain. Srishti has been working with us for a while now and we are well aware of her capabilities."


Click Here Topic Wise Study


 (19 वर्ष की श्रीस्ती गोस्वामी 24 जनवरी, 2021 को राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर एक दिन के लिए उत्तराखंड की मुख्यमंत्री बनेंगी है।)


(इस दिन विधानसभा के कमरा नंबर 120 में एक बैठक आयोजित की जाएगी। इसकी मंजूरी और निर्देश मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दिए हैं।)


(गोस्वामी, जो बीएससी तृतीय वर्ष का छात्र है, ने कहा, "मुझे अभी भी विश्वास नहीं हो रहा है कि क्या यह सच है। मैं इतना अभिभूत हूं। लेकिन साथ ही, मैं यह साबित करने की पूरी कोशिश करूंगा कि युवा काम के दौरान प्रशासन में उत्कृष्टता हासिल कर सकें ओर लोगों का कल्याण कर सके। "


(अपने एक दिन के कार्यकाल के दौरान, सृष्टि राज्य के विकास कार्यों की समीक्षा करेंगी। इसके लिए, नामित विभाग के अधिकारी प्रत्येक पांच मिनट में विधानसभा में अपनी प्रस्तुति देंगे। विधानसभा दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक आयोजित की जाएगी।)


(जिन योजनाओं की वह समीक्षा करेंगे, उनमें अटल आयुष्मान योजना, स्मार्ट सिटी परियोजना, पर्यटन विभाग द्वारा होमस्टे योजना और अन्य विकास परियोजनाएं शामिल हैं।) 


(उत्तराखंड बाल अधिकार संरक्षण आयोग की चेयरपर्सन उषा नेगी ने कहा, '' इस बारे में व्यवस्था पहले से ही गैरेसिन में राज्य विधानसभा भवन में की जा चुकी है। सृष्टि कुछ समय से हमारे साथ काम कर रही है और हम उसकी क्षमताओं से अच्छी तरह वाकिफ हैं। ")


Find More Latest News

Post a Comment

Thanks For Visiting...Keep learning...!

Previous Post Next Post