International Workers Day or May Day - 1 May


International Labour Day, labour day, May Day, ssc, bank, upsc, studynews, 1st may,

Every year on May 1, International Labour Day is celebrated not only in India but around the world. The day is celebrated to honor the contribution of workers around the world. For the first time in the year 1891, May 1 was announced to be formally celebrated as International Labour Day each year.
(1 मई को हर साल भारत में ही नहीं बल्किविश्व भर में International Labour Day (अंतर्राष्ट्रीय श्रम दिवस) मनाया जाता है।  यह दिन विश्व भर में श्रमिकों के योगदान को सम्मानित करने के लिए मनाया जाता है। वर्ष 1891 में पहली बार 1 मई को औपचारिक रूप से प्रत्येक वर्ष अंतर्राष्ट्रीय श्रम दिवस के रूप में मनाया जाने की घोषणा की गई थी।)

Labour Day begins in India:-

The first Labour Day in India was celebrated in Madras on 1 May 1923 by the Labour Farmers Party of Hindustan. This was the first time Labour Day was celebrated with red flags at that time. Also in India it is also known as Kamgar Divas or International Workers' Day in Hindi, Kamgar Divas in Marathi and Uzhaipalar Naal in Tamil.
(भारत में पहला श्रम दिवस  1 मई, 1923 को लेबर किसान पार्टी ऑफ हिंदुस्तान द्वारा मद्रास  में मनाया गया था। यह पहला मौका था उस  वक्त लाल झंडे के साथ श्रम दिवस मनाया गया था. इसके अलावा भारत में इसे हिंदी में कामगर दिवस या अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस, मराठी में कामगर दिवस और तमिल में  उझिपालार नाल (Uzhaipalar Naal) के नाम से भी जाना जाता है।)

History of International Labour Day:-

On this day, for the first time in the world, on May 1 in 1886, people in the United States began a strike to determine the maximum working hours of 8 hours per day. This was followed by a bomb blast in Chicago's Haymarket Square on 4 May, killing several people and seriously injuring several others. The Samajwadi All-National Organization again declared this day as Labour Day in memory of the workers.
(इस दिन को विश्व में पहली बार  1886 में 1 मई को पहली बार संयुक्त राज्य अमेरिका में लोगों ने काम की अवधि को अधिकतम 8 घंटे प्रति दिन निर्धारित करने के लिए हड़ताल शुरू की थी। जिसके बाद 4 मई को शिकागो के हैमार्केट स्क्वायर में एक बम विस्फोट हुआ, जिसमें कई लोगों की मौत हो गई और कई अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे। समाजवादी अखिल राष्ट्रीय संगठन ने इस दिन को फिर श्रमिकों की याद में श्रम दिवस के रूप में घोषित कर दिया ।)

Highlights :-

International Labour Organization Headquarters :- Geneva, Switzerland.

President of International Labour Organization :- Cow Rider

Establishment of International Labour Organization :- 1919.

Post a Comment

Thanks For Visiting...Keep learning...!

Previous Post Next Post